16 October 2020:-पंचांग, 16 अक्टूबर को समाप्त होगा अधिक मास, इस दिन है अमावस्या, बन रहा है विशेष संयोग

16 October 2020:-पंचांग, 16 अक्टूबर को समाप्त होगा अधिक मास, इस दिन है अमावस्या, बन रहा है विशेष संयोग

Amavasya 2020
पंचांग:-Adhik Maas Amavasya 2020:अधिक मास 16 अक्टूबर 2020 को समाप्त होगा. अधिक मास के समाप्त होते ही मांगलिक कार्य आरंभ हो जाएंगे. इस दिन अमावस्या की तिथि है और विशेष संयोग का निर्माण हो रहा है. जो लक्ष्मी पूजा के लिए उत्तम है.

16 October 2020 Panchang: अधिक मास यानि पुरुषोत्तम मास का 16 अक्टूबर 2020 को समापन होने जा रहा है. अधिक मास में मांगलिक कार्यों पर रोक लग जाती है. अधिक मास के समाप्त होते ही नवरात्रि का पर्व आरंभ हो जाएगा. पंचांग के अनुसार शुक्ल पक्ष में चंद्र की कलाओं में वृद्धि होती है, वहीं कृष्ण पक्ष में चंद्रमा घटने लगता है, इसी कारण अमावस्या पर यह दिखाई नहीं देता है.

पंचांग के अनुसार 16 अक्टूबर को आश्विन मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या की तिथि है. अधिक मास की अमावस्या का विशेष महत्व बताया गया है. अधिक मास के समापन के अगले दिन आश्विन शुक्ल की प्रतिपदा से शारदीय नवरात्रि का शुभारंभ होगा. अधिकमास 18 सितंबर 2020 से शुरू हुआ था.

तीन साल में आता है अधिक मास
अधिक मास का महीना 3 साल में एक बार आता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अधिक मास की अंतिम अमावस्या बहुत ही विशेष होती है. ऐसी मान्यता कि इस अमावस्या पर शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं. ऐसा कहा जाता कि अमावस्या की तिथि पर बुरी आत्मा सक्रिय हो जाती हैं. जो नकारात्मक ऊर्जा में वृद्धि करती हैं. इसलिए इस तिथि पर विशेष सावधानी बरतनी चाहिए. अमावस्या की तिथि पर यात्रा करने से बचना चाहिए और वाद विवाद की स्थिति से दूर रहने का प्रयास करना चाहिए.

लक्ष्मी जी की पूजा करें, बन रहा है विशेष संयोग
पंचांग के अनुसार 16 अक्टूबर को शुक्रवार का दिन है और तिथि अमावस्या है. यह संयोग माता लक्ष्मी की पूजा के लिए उत्तम है. इस दिन माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा करने से विशेष फल प्राप्त होते हैं.

पितरों को करें प्रसन्न
अमावस्या की तिथि में सूर्य और चंद्रमा एक राशि में गोचर करते हैं. पंचांग के अनुसार 16 अक्टूबर को सूर्य और चंद्रमा कन्या राशि में विराजमान रहेंगे. अमावस्या पर पितरों की पूजा करनी चाहिए. ऐसा करने से पितृ प्रसन्न होते हैं और आर्शीवाद प्रदान करते हैं. इससे जीवन में आने वाली कई परेशानियों दूर होती हैं. इस दिन दान आदि का कार्य भी करना चाहिए.

 

 


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ