टीनएजर की बनाई अश्लील फोटो, 5 लाख रुपए के लिए करने लगे ब्लेकमेल


Image Credit : twitter

स्टोरी हाइलाइट्स

उसके नाम पर फर्जी आइडी बनाई गई और उससे अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी देकर पांच लाख रुपये की मांग की जाने लगी..!

ऐसे पकड़ाए आरोपी

जबलपुर: एक टीनएजर की फोटो का इस्तेमाल कर इंस्टाग्राम पर फर्जी आइडी बनाते हुए उसे ब्लैकमेल करने का प्रयास किया गया है। ब्लैकमेल करने वालों ने फोटोशाप का इस्तेमाल कर छात्रा की अश्लील फोटो बना ली थी। उसके नाम पर फर्जी आइडी बनाई गई और उससे अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी देकर पांच लाख रुपये की मांग की जाने लगी। घटना गोसलपुर थाना क्षेत्र की है जहां छात्रा की शिकायत पर एफआइआर दर्ज कर पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के बाद दोनोें आरोपितों को नोटिस देकर छोड़ा गया है। मामले की विवेचना अभी जारी है।

गोसलपुर पुलिस ने बताया कि 18 वर्षीय छात्रा प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही है। 14 मई को उसकी इंस्टाग्राम आइडी पर एक मैसेज पहुंचा। जिस आइडी से यह मैसेज भेजा गया था उसकी डीपी में इसी छात्रा की फोटो लगी थी। आइडी में अश्लील शब्दों का भी इस्तेमाल किया गया था। छात्रा की फोटो का उपयोग कर फर्जी आइडी बनाने वाला इतने पर ही नहीं रुका बल्कि उसे लगातार आपत्तिजनक मैसेज भेजने लगा। उसकी आइडी पर छात्रा की आपत्तिजनक फोटो भी भेजी गई। उसकी आपत्तिजनक फोटो फोटोशाप के उपयोग से तैयार की गई थी।

फर्जी आइडी बनाने वाले ने मैसेज के जरिए बात करना शुरु किया तो छात्रा उससे अपनी आपत्तिजनक फोटो व फर्जी आइडी डिलीट करने की गुहार लगाती रही। आइडी बनाने वाला इसके बदले में छात्रा से पांच लाख रुपये की मांग करने लगा। उसने धमकी भी दी कि यदि रकम न मिली तो वह उसकी आपत्तिजनक फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल भी कर देगा। 15 मई को मिली धमकी के बाद छात्रा ने अपने परिजनों को घटना की जानकारी दी। इसके बाद परिजनों के साथ गोसलपुर थाना पहुंचकर बाकायदा शिकायत दर्ज कराई। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर यह मामला तकनीकी जांच के लिए पुलिस की सायबर सेल को सौंपा गया।

गोसलपुर पुलिस ने सायबर सेल की मदद ली और इसके बाद फर्जी आइडी बनाने वाले गोसलपुर निवासी शिवम नामदेव को पकड़ लिया गया। पूछताछ में उसने अपने दूसरे साथी का नाम बताया जिसने उसे छात्रा की फोटो दी थी। पुलिस ने तत्काल उसके साथी को भी पकड़ लिया। पूछताछ में दोनों आरोपियों ने बताया कि गरीबी दूर करने और पैसे कमाने के लिए उन्होंने यह षडयंत्र रचा था। उन्हें लगा था कि अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी पर यह किशोरी पांच लाख रुपये का इंतजाम कर उन्हें दे देगी।

गोसलपुर टीआइ आइपीएस शशांक ने बताया कि छात्रा की फोटो का इस्तेमाल कर इंटरनेट मीडिया पर फर्जी आइडी बनाई गई थी। इसके बाद छात्रा को ब्लैकमेल कर 5 लाख रुपये की मांग की जा रही थी। शिकायत के बाद मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। 

 

 

SEEMAA DIWAN

SEEMAA DIWAN

diwanseema54@gmail.com