एलएसी पर फिर से आवाजाही, चीनी वायु सेना ने लद्दाख में युद्धाभ्यास किया, भारत ने की राफेल की तैनाती 

एलएसी पर फिर से आवाजाही, चीनी वायु सेना ने लद्दाख में युद्धाभ्यास किया, भारत ने की राफेल की तैनाती 

देश में कोरोना की दूसरी लहर की तीव्रता कम होने से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर तनाव बढ़ रहा है। चीन ने एक बार फिर पूर्वी लद्दाख में अपनी तैनाती बढ़ा दी है। वहीं, चीनी वायुसेना ने हाल ही में भारतीय सीमा के पास एक बड़ा सैन्य अभ्यास किया। इस अध्ययन से भारत की खुफिया एजेंसियां ​​हैरान हैं।

शीर्ष सरकारी सूत्रों की रिपोर्ट के अनुसार, 20 से अधिक चीनी वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने पूर्वी लद्दाख क्षेत्र के खिलाफ अभ्यास में भाग लिया। यह अभ्यास पिछले साल पूर्वी लद्दाख में हुआ था, जहां चीनी सेना ने अपने सैनिकों को सारी सहायता पहुंचाई थी। 

चीन और पाकिस्तान संयुक्त रूप से लॉन्च करेंगे अल जज़ीरा जैसा अंतरराष्ट्रीय समाचार चैनल

Rafale

पता चला है कि भारत ने अपनी उच्च तैयारी बनाए रखने के लिए उत्तरी सीमा पर राफेल लड़ाकू विमान सहित अपने लड़ाकू विमान बेड़े को भी सक्रिय कर दिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, लद्दाख के सामने चीनी सीमा पर काशगर, होतान, नागरी गुंसा, शिगात्से, ल्हासा गोगनकर, न्यिंगची और चमदो पंगटा एयरबेस पर भारत की नजर है।

सरकारी सूत्रों के अनुसार, शिनजियांग और तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र में सात चीनी सैन्य ठिकानों की निगरानी के लिए उपग्रहों और अन्य प्रकार की निगरानी का उपयोग किया जा रहा है। भारतीय वायु सेना के फॉरवर्ड एयरबेस को पश्चिमी और उत्तरी मोर्चों पर स्थिति से निपटने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

अमेरिका और चीन के बाद सबसे अधिक अरबपति भारत में: फोर्ब्स रिपोर्ट 

भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों को भी LAC पर युद्धाभ्यास करते देखा गया। यह पता चला है कि चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयर फोर्स (पीएलएएएफ) ने हाल ही में अपने कई एयरबेस को अपग्रेड किया है, जिसमें शिविरों का निर्माण, रनवे की लंबाई और अतिरिक्त बलों की तैनाती शामिल है।

 

 

Priyam Mishra



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ