हिंदुस्तान  रेमडेसीवीर की 4,50,000 डोज़  का आयात करेगा, आज 75,000 डोज़  की पहली खेप पहुंची

हिंदुस्तान  रेमडेसीवीर की 4,50,000 डोज़  का आयात करेगा, आज 75,000 डोज़  की पहली खेप पहुंची

 

केंद्र  ने देश में रेमडेसीवीर की कमी को दूर करने के लिए दूसरे देशों से महत्वपूर्ण दवा रेमडेसीवीर का आयात शुरू किया है। इसके तहत आज रेमडेसीवीर की 75,000 डोज़  की पहली खेप हिंदुस्तान  पहुंचेगी।

केंद्र के स्वामित्व वाली कंपनी एचएलएल लाइफकेयर लिमिटेड ने अमेरिका के मेसर्स गिलियड साइंसेज इंक और मिस्र की फार्मा कंपनी मेसर्स ईवीए फार्मा को रेमडेसीवीर की 4,50,000 शीशियां बनाने का ऑर्डर दिया है। अमेरिका से अगले एक या दो दिनों में 75,000 से 1,00,000 शीशियां हिंदुस्तान  पहुंचेगी। इसके अलावा 15 मई से पहले एक लाख डोज़  की सप्लाई  की जाएगी। साथ ही ईवीए फार्मा शुरुआत में लगभग 10,000 डोज़  की सप्लाई  करेगी, जिसके बाद हर 15 दिन या जुलाई तक 50,000 शीशियां मिलेंगी।

Remdesivir-


गवर्नमेंट ने देश में भी रेमडेसीवीर की प्रोड्क्शन क्षमता को बढ़ा दिया है। 27 अप्रैल तक सात लाइसेंस प्राप्त घरेलू निर्माताओं की प्रोड्क्शन क्षमता प्रति माह 38 लाख डोज़  से बढ़कर 1.03 करोड़ डोज़  प्रति माह हो गई। पिछले सात दिनों (21-28 अप्रैल, 2021) में दवा कंपनियों द्वारा देश भर में कुल 13.73 लाख डोज़  की सप्लाई  की गई है। दैनिक सप्लाई  11 अप्रैल को 67,900 डोज़  से बढ़कर 28 अप्रैल. 2021 को 2.09 लाख डोज़  तक पहुंच गई है। गृह मंत्रालय द्वारा रेमडेसीवीर सप्लाई  को सुचारू रूप से करने के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को एडवाजरी जारी की गई थी।

गवर्नमेंट ने हिंदुस्तान  में इसकी उपलब्धता बढ़ाने के लिए रेमडेसीवीर के निर्यात पर भी रोक लगा दी। आम लोगों के बीच इंजेक्शन की लाभप्रदता सुनिश्चित करने के लिए, एनपीपीए ने 17 अप्रैल, 2021 को संशोधित अधिकतम खुदरा रेट  जारी किया, जिससे सभी प्रमुख ब्रांडों की लागत 3500 रुपये प्रति शीशी से नीचे  गई।

रेमडेसिवीर के प्रोड्क्शन तेजी से बढ़ाने और उपलब्धता को आसानी से सुनिश्चित बनाने के लिए, राजस्व विभाग ने 20 अप्रैल को अधिसूचना 27/2021 जारी कर रेमडेसीवीर इंजेक्शन पर सीमा शुल्क की पूरी तरह से खत्म करने का ऐलान किया था। इसके साथ ही रेमडेसीवीर के निर्माण में इस्तेमाल किए जाने वाले एपीआई और बीटा साइक्लोडोडेक्सट्रिन पर भी यह छूट दी गई थी। सीमा शुल्क में यह छूट 31 अक्टूबर, 2021 तक लागू रहेगी।

एम्स/आईसीएमआर-कोविड-19 नेशनल टास्क फोर्स/एमओएचएफडब्ल्यू की संयुक्त निगरानी समूह द्वारा 22.04.2021 को एडल्ट कोविड-19 रोगियों के ट्रीटमेंट  के लिए नेशनल क्लीनिकल मैनेटमेंट प्रोटोकॉल जारी किया गया था। अपडेटेड प्रोटोकॉल ड्रग्स के विवेकपूर्ण उपयोग को प्रोत्साहित करेगा और मांग को बुद्धिसंगत बनाने में योगदान देगा।






हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ