टाइट अंडरगारमेंट्स का प्रयोग आपको नपुंसक बना सकता है

टाइट अंडरगारमेंट्स का प्रयोग आपको नपुंसक बना सकता है:

चिकित्सा विज्ञानियों का मानना है कि टाइट अंडरगारमेंट्स का प्रयोग आपको नपुंसक बना सकता है। आधुनिक युवा टाइट जीन्स पहनना चाहते हैं और इसके नीचे टाइट ब्रीफ्स ही उन्हें सूट करती हैं। वे नहीं जानते कि उनका यह फैशन स्टेटमेंट उन्हें ..संतानहीनता की ओर धकेल सकता है।

'यह सच कि पुरुषों की ऊर्वरता को कई तथ्य प्रभावित करते हैं। इसमें शुक्राणुओं के ट्रांसपोर्टेशन से लेकर यौन संबंधित बीमारियां, प्रोस्टेट की बीमारियां, अंडकोषों में संक्रमण, मादक दवाओं का सेवन, अत्यधिक धूम्रपान, मोटापा और सबसे अधिक महत्वपूर्ण अंडकोषों का बढ़ा हुआ तापमान तक शामिल है।

ये भी पढ़ें...Health Tips: भोजन के तुरंत बाद खट्टी डकारें क्यों आती हैं, जानिए वजह और उपचार.. 

प्रजजन में क्यों हैं महत्वपूर्ण अंडकोषों की भूमिका:-

लिंग के नीचे दोनों अंडकोष विद्यमान रहते हैं। शुक्राणुओं का निर्माण इन्हीं में होता है। यह लंबी और सतत चलने वाली प्रक्रिया है। जर्म सेल्स को परिपक्व शुक्राणु बनने में लगभग 70 दिन लगते हैं। इन्हीं परिपक्व शुक्राणुओं की बदौलत ही महिला के अंडे में फर्टिलाइजेशन की प्रक्रिया संपन्न होती है। हर 20 में से 1 पुरुष में किसी न किसी तरह की फर्टिलिटी प्रॉबलम्स होती हैं। इनमें स्खलन के दौरान कम मात्रा में शुक्राणु निकलना भी शामिल है। इसी तरह हर 100 में से 1 पुरुष शुक्राणु ही निर्माण नहीं कर पाता है।


स्पा और सौना बाथ भी हैं जिम्मेदार:-

स्पा और सौना बाथ के दौरान भी अंडकोषों का तापमान बढ़ जाता है। बाथटब में लंबे समय तक गर्म पानी में नहाने से अधिक नुकसान होता है।

अधिकांश समस्याएं पुरुषों के साथ:-

जो युगल फर्टिलिटी की समस्या से जूझ रहे हैं उनमें से अधिकांश पुरुषों में ही कोई न कोई समस्या निकल आती है। बहुत ही अपवादस्वरूप पुरुष और महिला दोनों में ही कोई प्रजनन संबंधित समस्या होती है। यह हमेशा याद रखना चाहिए कि जिन पुरुषों में स्पर्म काउंट कम भी हो तब भी वे प्राकृतिक रूप से संतान उत्पत्ति करने में सक्षम होते हैं।

क्या कहते हैं शोध अध्ययन:-

अमेरिका के हार्वर्ड टी एच शैन स्कूल ऑफ पब्लिक हैल्थ द्वारा कराए गए एक शोध अध्ययन के मुताबिक जो पुरुष अक्सर बॉक्सर जैसे हल्के फुल्के और हवादार अंडरगारमेंट्स पहनते हैं उनकी स्पर्म क्वालिटी टाइट ब्रीफ्स पहनने वालों की तुलना में अधिक पाई गई थी। बॉक्सर पहनने वाले पुरुषों के स्पर्म काउंट की क्वालिटी और उनका घनत्व बहुत अधिक पाया गया था।

ये भी पढ़ें... Health Tips: यह आदत आपकों जल्दी मौत की ओर ले जाती है, इससे रहें सावधान…


अंडकोषों की शरीर में उपस्थिति बेहद महत्वपूर्ण है। क्योंकि यहां वे किसी चोट से सुरक्षित रहते हैं साथ ही शरीर से उनका तापमान भी 2 डिग्री कम रहता है। उच्चतम श्रेणी के स्पर्म का उत्पादन कम तापमान में ही अधिक होता है। सामान्यतौर पर यहां पसीना आना प्रकृति की ही एक व्यवस्था है। पसीना वाष्पित होकर उड़ने से तापमान कम हो जाता है। यह प्राकृतिक 'कूलिंग सिस्टम' है। 

अगर टाइट ब्रीफ्स पहनने के बाद यदि टाइट जींस पहन रखी हो तो तापमान कम नहीं हो पाता है जो कि जरूरी है। यही वजह है कि अंडकोष पर्याप्त मात्रा में उच्चतम श्रेणी के स्पर्म पैदा नहीं कर पाता है। यदि अंडकोष बहुत लंबे समय तक बहुत अधिक तापमान में रहें तो स्पर्म का प्रॉडक्शन रुक जाता है। ऐसा नहीं है कि जींस और ब्रीफ्स उतारते ही तापमान कम हो जाएगा। अडकोषों द्वारा पुनः स्पर्म प्रॉडक्शन शुरू करने के लिए लगातार कुछ महीनों तक अंडकोषों को ठंडे तापमान में रखना जरूरी होगा। 

Latest Hindi News के लिए जुड़े रहिये News Puran से.

EDITOR DESK



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ