स्वस्थ हो रहे हैं हैदराबाद के ज़ू में रह रहे कोरोना से संक्रमित एशियाई लायन

हैदराबाद के ज़ू में रह रहे कोरोना  से संक्रमित एशियाई लायन से स्वस्थ हो रहे हैं

सेम्प्ल्स  के विश्लेषण से पता चला है कि किसी भी प्रकार के चिंतित करने वाले वायरस के स्वरूप से संक्रमण नहीं हुआ है

इस बात का कोई तथ्यात्मक प्रमाण नहीं है कि जानवर किसी भी तरह से मनुष्यों तक बीमारी का संचार कर सकते हैं|

Lion

हैदराबाद के नेहरू जूलॉजिकल पार्क (एनज़ेडपी) में रखे गए ऐसे आठ एशियाई लायंस  के सेम्प्ल्स  (नाक, गले और श्वसन तंत्र से एकत्र किए गए) को ज़ू प्रशासन ने 24 अप्रैल 2021 को सावधानी के रूप में, सीसीएमबी-एलएसीलोएनईएस के साथ साझा किया था, जिनमें सांस की परेशानी के सिम्पटम  दिखाई दिए थे। सीसीएमबी-एलएसीलोएनईएस द्वारा 4 मई 2021 को साझा किए गए डिटेल नैदानिक ​​टेस्ट्सऔर रिपोर्ट के आधार पर, अब यह पुष्टि हो गई है कि हैदराबाद के नेहरू जूलॉजिकल पार्क (एनज़ेडपी) में रखे गए आठ एशियाई लायन corona वायरस से संक्रमित हैं।

सेम्प्ल्स  के आगे के विश्लेषण से पता चला है कि किसी भी प्रकार के चिंतित करने वाले वायरस के स्वरूप से संक्रमण नहीं हुआ था। आठ लायंस  को आइसोलेशन में रख दिया गया है और उनकी उचित देखभाल और आवश्यक उपचार शुरू कर दिया गया है। इलाज के बाद सभी आठ लायंस  के स्वास्थ्य में सुधार दिखाई दे रहा है और वे अच्छी तरह से ठीक हो रहे हैं। वे सामान्य रूप से व्यवहार कर रहे हैं और अच्छी तरह से खाना खा रहे हैं। सभी ज़ू कर्मचारियों की सुरक्षा के उपाय पहले से ही शुरू कर दिए गए हैं और बाहरी संपर्क से बचाने के लिए ज़ू को दर्शकों के लिए बंद कर दिया गया है।

केंद्रीय ज़ू प्राधिकरण ने कोरोना  के मामलों की बढ़ती संख्या के मद्देनज़र zoo के लिए zoo द्वारा सुरक्षा के दिशा-निर्देश और सलाह जारी करने सहित कई उपाय पहले से ही किए हैं। वैज्ञानिक एजेंसियों और भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आईवीआरआई) उत्तर प्रदेश और सेलुलर और आणविक जीवविज्ञान केंद्र और लुप्तप्राय प्रजातियों के संरक्षण के लिए प्रयोगशाला (सीसीएमबी-एलएसीलोएनईएस) हैदराबाद के एक्सपर्ट्स  के साथ परामर्श से zoo को रोकथाम, नमूना संग्रह, संदिग्ध मामलों में पता लगाने और एनिमल्स की देखभाल करने वालों के लिए सुरक्षा प्रोटोकॉल आदि के दिशा निर्देश दिए गए हैं। 

एक्सपर्ट्स के परामर्श से अगले चरणों के भाग के रूप में, कोविड सावधानियों के लिए नए दिशानिर्देशों को और विकसित किया जा रहा है। आवश्यकता होने पर अतिरिक्त सूचना जारी की जाएगी।

दुनिया में अन्य जगहों पर पिछले साल corona से संक्रमित होने वाले ज़ू के एनिमल्स के साथ अनुभव के आधार पर, इस बात के कोई तथ्यात्मक प्रमाण नहीं है कि जानवर, मनुष्यों को किसी भी तरह से बीमारी पहुंचा सकते हैं। 

 


हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ