कोरोना दुनिया: मरने वालों की संख्या 50 लाख के करीब, अकेले अमेरिका में 7 लाख मौतें, डेल्टा वेरिएंट ही सबसे बड़ा कारण.. 


स्टोरी हाइलाइट्स

कोरोना से मरने वालों की संख्या अमेरिका में 7 लाख पार कर गई है| दुनिया भर में कोरोना वायरस महामारी से मौत की संख्या करीब 50 लाख तक पहुंच गई है।

कोरोना दुनिया: मरने वालों की संख्या 50 लाख के करीब, अकेले अमेरिका में 7 लाख मौतें, डेल्टा वेरिएंट ही सबसे बड़ा कारण..  कोरोना से मरने वालों की संख्या अमेरिका में 7 लाख पार कर गई है| दुनिया भर में कोरोना वायरस महामारी से मौत की संख्या करीब 50 लाख तक पहुंच गई है। दुनिया भर में 49.97 मिलियन लोग कोरोना संक्रमण के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं। रॉयटर्स के अनुसार, इनमें से 2.5 मिलियन मौतें एक साल से कम समय में हुई हैं। 25 लाख मौतों में सिर्फ 236 दिन लगे या 8 महीने से भी कम समय लगा। ऐसा कोरोना की दूसरी लहर के चलते हुआ, क्योंकि इस बार डेल्टा वेरिएंट ने कहर ढा रखा था। ये भी पढ़ें.. 7NEWS@7- नए रिकॉर्ड पर पहुंचा देश का विदेशी मुद्रा भंडार,Covid-19 India, West Bengal By Election पिछले सात दिनों में दुनिया भर में 8,000 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण से हुई है. यानी हर 5 मिनट में एक व्यक्ति की कोरोना से मौत होती है। संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस, ब्राजील, मैक्सिको और भारत का पिछले सात दिनों में दुनिया की औसत मौतों में आधे से अधिक का योगदान है। रिपोर्ट के मुताबिक पिछले कुछ हफ्तों में दुनिया की कोरोना मृत्यु दर में गिरावट आई है। अमेरिका में वैक्सीन को लेकर चल रही अफवाहों के चलते बड़ी संख्या में लोग खुराक लेने से परहेज कर रहे हैं. यहां की लगभग एक तिहाई आबादी का टीकाकरण नहीं हुआ है। शुक्रवार को रूस में कोरोना से 887 मौतें हुईं, जो कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद से एक दिन में सबसे ज्यादा मौतें हैं। देश की 33 फीसदी आबादी को ही वैक्सीन मिल पाई है. भारत में हालात में सुधार हुआ है: दूसरी लहर में डेल्टा संस्करण के कारण एक दिन में औसतन 4000 मौतें हुईं। लेकिन टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से यह औसत घटकर सिर्फ 300 रह गया है। डेल्टा वेरिएंट इस समय दुनिया में कोरोना वायरस का सबसे खतरनाक वेरिएंट है। 194 देशों में से 187 में इस वेरिएंट  की रिपोर्ट की गई है।
News Puran Desk

News Puran Desk