क्या आपको पैनिक दौरे पड़ते हैं? क्या आपको डर और भय की बीमारी है? तो खुद ये टेस्ट करें? 

क्या आपको पैनिक दौरे पड़ते हैं? क्या आपको डर और भय की बीमारी है? तो खुद ये टेस्ट करें? 
यदि आप खुद या किसी व्यक्ति जिसे आप जानते है अगर पैनिक दौरे या बीमारी से ग्रस्त हैं तो आसान स्व-मूल्यांकन परीक्षण (Self Assessment Test) करें: याद रखें, सिर्फ डॉक्टर ही बीमारी का निदान कर सकते हैं, आप खुद नहीं।

पैनिक दौरे के कुछ लक्षण (Some symptoms of Panic Attack)

ये भी पढ़ें....पैनिक अटैक: जाने कहीं आपको दहशत के दौरे तो नहीं पड़ते ?

जानिए क्या है पैनिक अटैक? इसके संकेत और लक्षण
हृदय की तेज धड़कन या सीने में दर्द का एहसास।

बेचैनी।

अधिक पसीना आना।

तेज छिछली श्वास।

दम घुटने का एहसास।

मितली या पेट में दर्द।

कंपन, थरथराहट, सुन्नपन या गरम ठंडे प्रवाह का अहसास।

व्यक्तित्व हीनता की भावना।

चक्कर या बेहोशी का एहसास।

मृत्यु का भय।

शारीरिक लक्षण (Physical Symptoms):

ये भी पढ़ें....पैनिक बीमारी (Panic Disorder) की पहचान : Panic attacks and panic disorder

पैनिक अटैक क्या है? क्या आपने किसी को इस बीमारी से पीड़ित देखा है? - Quora
हृदय का उछलना। 

धड़कन (धक धक) का एहसास होना। 

हृदय का स्पंदन (हार्ट बीट) तेज चलना या छूट जाना।

अधिक पसीना आना।

श्वास का तेज और छिछला होना।

गले में अवरोध या दम घुटने या श्वास रुकने का अनुभव होना।

सीने में दर्द या बेचैनी महसूस करना।

मितली या पेट में दर्द होना।

शरीर के किसी भी भाग में कम्पन या थरथराहट का अनुभव।

आपके शरीर के भागों में झुनझुनी आना या सुन्नपन का अनुभव करना।

शरीर के भागों में गरम या ठंडे प्रवाह का एहसास।

सुस्ती, अस्थिरता, चक्कर या मूर्च्छा का एहसास।

उपरोक्त के अतिरिक्त कुछ बोधात्मक लक्षण भी साथ साथ हो सकते हैं।

बोधात्मक लक्षण (Cognitive Symptoms):

ये भी पढ़ें....हार्ट  डिसीज़ : कब आता है हार्ट अटैक ? जानिए लक्षण, कारण व उपचार..  पैनिक अटैक और विकार के लक्षण, कारण, इलाज, दवा, उपचार और परहेज | Panic Attack and Disorder Ke Karan, Lakshan, ilaj, Dawa Aur Upchar in Hindiअपने आपसे अलग होने की भावना या अवास्तविकताओं या व्यक्तित्वहीनता की भावना।

नियंत्रण खोने का डर या उन्माद या पागलपन का एहसास।

इन घटनाओं के दौरान आप सोचते हैं कि कुछ भयावह या डरावना हो सकता है- जिससे आपकी मृत्यु हो जायेगी। 

(मृत्यु का भय), दिल का दौरा पड़ेगा, दम घुट जायेगा, नियंत्रण खो बैठेंगे या आप किसी परेशानी में पड़ जायेंगे और आप इनको रोकने में शक्तिहीन महसूस करते हैं।

नीचे दी गई प्रश्नावली का भी साथ-साथ मूल्यांकन करें: 

इन घटनाओं में दौरों के दौरान क्या आप भाग जाने या पलायन की भावना से ग्रस्त हैं ? क्या इन घटनाओं से आप बहुत भयभीत हैं या आपको डर है कि ये विपत्तियां फिर से आएगी ? और क्या यह डर आपको उन स्थान या परिस्थितियाँ को टालने का कारण बना है क्योंकि आपके विचार में ये स्थान या परिस्थितियाँ इन दौरों को बढा सकती हैं ?

कोई एक पैनिक दौरे के दौरान आपको उपरोक्त दिये गए लक्षण में से कुल कितने लक्षण का अनुभव हुआ ?  

०/१/२/३/४/ज्यादा

अनुभव किये गए लक्षण कितनी अवधि के लिए उसकी चरम अवस्था(प्रबलता) में रहे ? 

१० मिनट से कम/१ घण्टे से कम/१ घण्टे से ज्यादा

अनुभव किये गए लक्षण में से आपको कितने लक्षण में अनपेक्षित और अचानक से घबराहट का अनुभव हुआ ?

०/१/२/ज्यादा

क्या इन दौरे के दौरान अनुभव किये गए लक्षण में से कोई लक्षण उन परिस्थितियों या स्थान से संबंधित थे जो आपको सामान्यतः बेचैन नहीं बनाते ?

ये भी पढ़ें....बिना म्यूजिक बजते हैं आपके कान हो सकती है ये बीमारी

पैनिक बीमारी (Panic Disorder) की पहचान : Panic attacks and panic disorder
अनुभव किये गए दौरे आपको कितने दिन तक आते रहे ?

एक दिन से कम/एक महीने से कम/ ज्यादा

क्या आपने इस तरह के दौरे पिछले साल अनुभव किये थे, अगर हाँ तो कितनी संख्या में ?

कोई नहीं/१-२/३-४/५-१०/ज्यादा

इन दौरो के आने के पहले क्या आप कोई दवाई या उत्तेजक पदार्थ या तो नशीले पदार्थ का सेवन करते थे ?

हाँ/ना

इन दौरों के पहले क्या आप बीमार थे ? 

पैनिक अटैक पर करें अटैक - what is panic attack and how to deal with this | Navbharat Times
यदि इन में से कई प्रश्नों का उत्तर "हाँ या उंची श्रेणी" में है तो संभव है कि आप पैनिक (अचानक तीव्र चिन्ता या घबराहट के) दौरे से प्रभावित हैं। 

यदि ऐसा है तो अपने आप को अकेला न समझे और डॉक्टर की निदान सहायता अवश्य लें। यह भी ध्यान रखें कि इस स्वयं जाँच के परिणाम किसी प्रकार के निदान की पुष्टि नहीं करते हैं तथा ये व्यवसायिक (डॉक्टरी) परामर्श नहीं हैं। इस दिशा में आपका चिकित्सक ही आपका सबसे बड़ा सलाहकार बन सकता है।

ये पैनिक दौरे जो कि पैनिक डिसऑर्डर के प्रमाण व सूचक हैं ऐसा समझा जाता है कि तब आते हैं जब मस्तिष्क की डर की प्रतिक्रिया करने की सामान्य व्यवस्था जिसे फाइट और फ्लाइट प्रतिक्रिया (fight or flight reaction) भी कहते हैं वह असंगत ढंग से उत्तेजित होती है।

ज्यादातर लोग जो पैनिक बीमारी से ग्रस्त हैं वे वैसे ही दूसरे पैनिक (अचानक तीव्र चिन्ता या घबराहट के) दौरे आने की संभावनाओं की बेचैनी महसूस करते हैं और ऐसी परिस्थितियों को टालने की कोशिश में रहते हैं जिनकी वजह वे समझते हैं। कि ये दौरे आने वाले हैं। 

ये भी पढ़ें.... ओसीडी: प्रकार, लक्षण, कारण, treatment , उपचार : OCD: Types, Symptoms, Causes, Diagnosis, Treatment 

अचानक दूसरे दौरे तीव्र दौरे आने की बेचैनी और इनसे जुड़े हुए दृश्य, स्थान या परिस्थितियों को बार बार टालते रहने की कोशिश पैनिक बीमारी में जीवन के रोज़मर्रा के व्यवहार में परिवर्तन और कार्य-अक्षमता ला सकती है।

Latest Hindi News के लिए जुड़े रहिये News Puran से.

EDITOR DESK



हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ