केंद्र ने कहा ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं, विपक्ष ने केंद्र को घेरा, जानिए पूरा मामला..

केंद्र ने कहा ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं, विपक्ष ने केंद्र को घेरा, जानिए पूरा मामला..
नई दिल्ली: केंद्र सरकार द्वारा राज्यसभा में बयान दिए जाने के बाद से एक नया विवाद खड़ा हो गया है कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं हुई। लेकिन आपकों बता दे कि, जब कोरोना की दूसरी लहर अपने चरम पर थी, तब पूरे देश में सबसे बड़ा संकट ऑक्सीजन और अस्पताल में बेड की कमी का था। पूरे देश में लोगों कों ऑक्सीजन के लिए दर - दर भटकना पड़ा था और यहां तक ​​कि सुप्रीम कोर्ट को भी हस्तक्षेप करना पड़ा।

ऑक्सीजन


लेकिन अब एक बार फिर राजनीतिक गलियारों में ऑक्सीजन का मुद्दा उठ गया है। आज भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि, केंद्र ने साफ कहा है कि स्वास्थ्य राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों का विषय है और हम केवल जो आंकड़े राज्य भेजते हैं हम उन्हें ही इकट्ठा करते हैं। केंद्र सरकार ने कहा कि हमने एक गाइडलाइन जारी की थी, जिसके आधार पर राज्य/केंद्रशासित प्रदेश अपने मौत के आंकड़ों की रिपोर्ट दे सकें। साथ ही पात्रा ने राज्यों पर आरोप लगाते हुए कहा कि, केंद्र कह रही है कि किसी भी राज्य या केंद्रशासित प्रदेश ने ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत का आंकड़ा नहीं भेजा है। किसी भी राज्य ने नहीं कहा कि उनके राज्य में ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत हुई है। इसलिए मौत के आंकड़े नहीं हैं। यह जो केंद्र के पास आकड़े है क्या ये केंद्र ने बनाए है ? नहीं, बल्कि यह आकड़े राज्यों ने दिए है।


साथ ही संबित पात्रा ने राहुल गाँधी के ट्विट और अरविन्द केजरीवाल सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और राहुल गाँधी यह बताएं कि क्या आपकी सरकार ने केंद्र को जो आंकड़े दिए हैं उसमें से एक भी मरीज की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई है ऐसा लिखकर दिया है क्या ?  साथ ही  राहुल गाँधी पर टिप्पणी करते हुए कहा, " राहुल गांधी सिर्फ एक ट्विटर ट्रोल की तरह काम कर रहे हैं और लोगों में भ्रम फैला रहे हैं।" यहां तक ​​कि जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है, उन्होंने भी कहा है कि ऑक्सीजन से कोई मौत नहीं हुई है। आपकों बता दे कि, राहुल गाँधी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से ट्विट कर भाजपा सरकार के मौत के आंकड़े वाले बयान पर हमला किया था, अपने ट्विट में राहुल ने लिखा था कि " सिर्फ़ ऑक्सीजन की ही कमी नहीं थी, बल्कि संवेदनशीलता व सत्य की भारी कमी- तब भी थी, आज भी है "।



कमलनाथ ने केंद्र पर लगाया आरोप : मध्य प्रदेश 

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने केंद्र सरकार के ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं हुई वाले बयान पर हमला बोलते हुए कहा कि, केंद्र ने कहा है कि देश में किसी की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई, केंद्र सरकार का इतना बड़ा झूठ। मध्य प्रदेश और देश में कई मौतें ऑक्सीजन की कमी के कारण ही हुईं। साथ ही केंद्र के आकड़ो वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा, केंद्र राज्य सरकार को कहती हैं कि आप कोविड के आंकड़े मत भेजना, कल राज्यसभा में कहते हैं कि हम तो केवल राज्यों से आंकड़े इकट्ठा करते हैं, सरकार पूरी तरह से झूठ बोल रही है।
यह भी जानें: ऑक्सीजन और दवाओं के वितरण के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट की कार्रवाई, किया गया टास्क फोर्स का गठन 





हमारे बारे में

न्‍यूज़ पुराण (PURAN MEDIA GROUP)एक कोशिश है सत्‍य को तथ्‍य के साथ रखने की | आपके जीवन में ज्ञान ,विज्ञान, प्रेरणा , धर्म और आध्‍यात्‍म के प्रकाश के विस्‍तार की |
News Puran is a humble attempt to present the truth with facts. To spread the light of knowledge, promote scientific temper, inspiration, religion and spirituality in your life.


संपर्क करें

0755-3550446 / 9685590481



न्‍यूज़ पुराण



समाचार पत्रिका


श्रेणियाँ